Friday, August 3, 2018

घर पर बनाएं हर्बल हैंडवॉश/How to make herbal handwash at home

August 03, 2018 0

घर पर बनाएं हर्बल हैंडवॉश/How to make herbal handwash at home


आज जो हम आपको तरीका बताएँगे उससे आप घर में हर्बल हैंडवाश बना सकते हैं।चंद रूपये खर्च करके घर पर ही बड़े आसानी से आप हर्बल हैंडवाश बना सकेंगे । इसको इस्तेमाल करने से आपके हाथ soft (मुलायम ) और खुशबूदार बन जायेंगे ।ये बिलकुल केमिकल फ्री और हर्बल है जो आपके हाथो को नुकसान नहीं पहुँचायेगा।आइये जानते है इसे बनाने का तरीका -

Ingrediants /सामग्री

2 चम्मच गुलाब जल
4-5 गुलाब के फूल की पत्तियां

2 गुलहड के फूल की पत्तियां
2 चम्मच एलोवेरा जेल
5 रुपए का रीठा

हर्बल हैंडवाश बनाने की विधि /Procedure to make herbal handwash


सबसे पहले रात में रीठा को भिगोकर रख दें।फिर इसके बीज को निकालकर टुकड़े कर लें।फिर इसे मिक्सर में पीस लें- एक स्मूद पेस्ट तैयार हो जाएगा।रीठा साबुन का काम भी करता है।अब इस पेस्ट में 4 से 5 गुलाब की पत्तियां, गुलहड़ की पत्तियां के साथ 2 चम्मच गुलाब जल और 2 चम्मच ऐलोवेरा जेल डालकर मिक्स कर ले ।अब सभी सभी कप एक साथ दोबारा मिक्सर में पीस लें।इसका एकदम स्मूद पेस्ट बनाना है। गुलाब खुशबूं देने के का माता है और गुलहड़ कंडीशनर का काम करता है ।आका हर्बल हैंडवाश तैयार है ।आप इसे बोतल में भरकर यूज कर सकते हैं। अगर पेस्ट थोड़ा मोटा लग रहा है तो आप इस पेस्ट में पानी भी मिला सकते हैं। ये केमिकल फ्री हर्बल हैंडवाश है। इसके इस्तेमाल से आपके हाथ नरम ,मुलायम और खुसबूदार बने रहेंगे ।

Tuesday, July 31, 2018

गर्मियों में पसीने से होता है स्किन बैक्टीरियल इन्फेक्शन,ये हैं घरेलू उपाय

July 31, 2018 0

गर्मियों में पसीने से होता है स्किन बैक्टीरियल इन्फेक्शन,ये हैं घरेलू उपाय / sweating in summer can cause skin bacterial infection ,know its home remedies


गर्मियों में पसीने के कारण कई तरह के स्किन इंफेक्शन्स होने का खतरा रहता है।ज्यादातर इंफेक्शन्स का कारण साफ-सफाई न रखने के कारण फैलने वाले बैक्टीरिया होते हैं।गर्मियों में पसीने और तेज धूप के कारण ना सिर्फ आपको खुजली की परेशानी होती है बल्कि स्किन रैशेज जैसी प्रॉब्लम का सामना भी करना पड़ता है।इन बैक्टीरिया की वजह से ये रोग फैलते जाते हैं और कई बार पूरे शरीर में फैल जाते हैं।आज हम आपको कुछ ऐसे नैचुरल तरीके बताएंगे,जिसे करके आप बड़ी आसानी से इस समस्या से राहत पा सकेंगे।

स्किन बैक्टीरियल इन्फेक्शन से बचने के घरेलू उपाय -


1 .गेंदे की पत्तियों को पानी में उबालकर उससे दिन में दो-तीन बार चेहरा धोने से एक्‍ने की समस्‍या दूर होती है।
2 .कमफ्रे फूल के पत्‍ते और जड़ें सदियों से त्‍वचा संबंधी रोगों को ठीक करने में इस्‍तेमाल की जाती रही हैं।यह कट, जलना और अन्‍य कई जख्‍मों में काफी लाभकारी होता है।
3 .मुल्तानी मिट्टी स्किन रैशेज से जल्दी राहत दिलाती है। स्किन रैशेज को दूर करने के लिए 1 टीस्पून मुल्तानी मिट्टी और 2 टेबलस्पून गुलाबजल को मिक्स करके स्किन पर लगाएं।
4 .कैमोमाइल का फूल त्‍वचा पर लगाने से जलन को शांत करता है और साथ ही अगर इसका सेवन किया जाए तो आंतरिक शांति प्रदान करता है।


5 .जहां तक हो सके धूप के सीधे संपर्क में आने से बचें। इसके साथ ही त्वचा पर नियमित रूप से सन्सक्रीन लगाना भी जरूरी है। अपने चेहरे, गर्दन और बाहों पर बाहर निकलने से 20 मिनट पहले कोई सनब्लॉक क्रीम अच्छी तरह से लगाएं।
6 .त्वचा को साफ रखने के लिए दिन में कम से कम तीन बार चेहरा धोएं। त्वचा के रोमछिद्र बंद न हों इसके लिए हर शाम कोई अच्छा स्किन क्लींजर लगाएं। एंटी बैक्टीरियल फेस वॉश का इस्तेमाल करें।
7 .अगर आपको पसीना आता है तो अपने आप साफ रखकर इस समस्या से बचा सकते हैं। दिन में दो बार नहाएं। खासतौर से रात के समय जरूर नहाएं।
8 .नहाने के लिए कोई एंटीबैक्टीरियल साबुन या बाथ जेल इस्तेमाल करें। जहां तक हो सके खुद को सूखा रखें। प्रभावित त्वचा पर बर्फ रगड़ें, इससे जलन कम होगी।
9 .संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को दिन के समय में शरीर को जहां तक हो सके ढंकने वाले और कॉटन के कपड़े पहनने चाहिए ।
10 .गर्मियों में दही स्किन के लिए बहुत फायदेमंद होती है। इसे 10 मिनट रैशेज पर अप्लाई करें और फिर ठंडे पानी से धो लें।
11 .एंटी-बैक्टीरियल, कूलिंग और सूदिंग इफेक्ट वाली एलोवेरा जेल इस परेशानी को मिनटों में दूर कर देती है।
12 .नीम के पत्तों को पीसकर infected area पर लगाएं और सूखने के बाद ठंडे पानी से धो लें।
13 .कॉटन की मदद से गुलाबजल को रैशेज वाली जगह पर लगाएं। गुलाबजल का इस्तेमाल त्वचा को हाईड्रेटड करता हैैै, जिससे आपको स्किन रैशेज, जलन और खुजली जैसी परेशानी से राहत मिलती है।
14 .रात को सोने से पहले 1 कपूर की टिक्की को पीसकर नारियल तेल में मिक्स करके infected area पर लगा लें।

Tuesday, July 17, 2018

रोज 1 कटोरी दही खाने से होते हैं ये फायदे/ Health Benefits of Curd in Hindi

July 17, 2018 0

रोज 1 कटोरी दही खाने से होते हैं ये फायदे/ Health Benefits of Curd in Hindi


दही (Dahi/Curd/Yogurt) में प्रोटीन की क्वालिटी सबसे अच्छी होती हैं।दही को हेल्थ के लिए बहुत अच्छा माना जाता है।दही खाने से पाचन क्रिया सही रहती है। इससे पेट की परेशानियां, जैसे अपच, कब्ज, गैस आदि बीमारियों से निजात मिलती हैं।इसमें प्रोटीन, कैल्शियम, राइबोफ्लेविन, विटामिन बी जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाने वाले कैल्शियम की मात्रा दूध की अपेक्षा दही में बहुत ज्यादा होती है।

दही खाने के फायदे – YOGURT BENEFITS IN HINDI :

1 .हर रोज एक चम्मच दही खाने से इसमें मौजूद गुड बैक्टीरिया इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाते है।
2 .रात में नींद न आने की परेशानी हो तो रोज खाने के साथ एक कटोरी दही का सेवन करें। धीरे-धीरे यह समस्या दूर हो जाएगी।
3 .दही में कैल्सियम सबसे ज्यादा होता है जोकि हड्डी, दांत, नाखून आदि का विकास और संरक्षण करता है।
4 .दही खाने से कोलेस्ट्रॉल नही बढ़ता और दिल की धड़कन सामान्य रहती है।
5 .पेट में गर्मी या जलन होने पर दही या दही से बनी लस्सी पीने से आराम मिलता है।
6 .दही शरीर को हाइड्रेटेड करके एक नई ऊर्जा देने का काम करता है।
7 .हर-रोज दही का सेवन करने से आंतो, पेट सबंधिंत बीमारी नहीं होती हैं।
8 .दही हमारी भूख को बढ़ाने और दस्त को रोकने में मदद करता है।

9 .आयुर्वेद के अनुसार गाय के दूध से बनने वाला दही बलवर्धक, शीतल, पौष्टिक, पाचक और कफनाशक होता है।
10 .भैंस के दूध से बनने वाला दही रक्त, पित्त, बल-वीर्यवर्धक, स्निग्ध, कफकारक और भारी होता है।
11 .दही का सेवन पेट में होने वाले इन्फेक्शन से भी बचाता है।
12 .दही खून की कमी और शारीरिक कमजोरी दूर करता है।
13 .दही की मलाई को मुंह के छालों पर दिन में 2-3 बार लगाने से छालों की परेशानी में राहत मिलती है।
14 .दही में विटामिन b12 अच्छी मात्रा में होता है।
15 .एंटीबायोटिक दवाइयों के सेवन के दुष्प्रभाव से बचने के लिए दही सेवन की सलाह डाक्टर भी देते हैं।
16 .हींग का छौंक लगाकर दही खाने से जोड़ों के दर्द में लाभ मिलता है।
17 .दही के नियमित सेवन से शुगर लेवल कंट्रोल रहता है।
18 .दुबले-पतले व्यक्तियों को अगर दही में किशमिश, बादाम या छुहारा मिलाकर दिया जाए तो वजन बढ़ने लगता है।
19 .दही के साथ शहद मिलाकर जिन बच्चों के दांत निकल रहे हों, उन्हें चटाना चाहिए। इससे दांत आसानी से निकल जाते हैं।
20 .दही का सेवन करने वालों को तनाव की शिकायत बहुत कम होती हैं।
21 .दही के लगातार सेवन करने से कैंसर होने की संभावना नहीं रहती।
22 .दही में असली शहद मिलाकर 3-4 दिन तक दिन में सुबह और शाम पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।
23 .मुंह में छाले होने पर रोज सुबह मुंह के छालों पर दही मलने से लाभ होता है।


हमेशा ताज़े दही का ही सेवन करे। कभी भी रात के समय दही ना खाएं। अगर आपको सर्दी की समस्या हमेशा बनी रहती है तो भी दही का सेवन ना करें।











सावन के सोमवार व्रत के आश्चर्यजनक फायदे /सावन माह में सोमवार का व्रत रखने का महत्व /Benefits of fasting during shravan month

July 17, 2018 0

सावन के सोमवार व्रत के आश्चर्यजनक फायदे /सावन माह में सोमवार का व्रत रखने का महत्व /Benefits of fasting during shravan month


श्रावण मास में शिव जी की पूजा का विशेष मान है ।लोग सावन में विशेषकर भगवान शिव की पूजा-आराधना और व्रत करते हैं। इस दिन व्रत करने से भगवान शिव अपने भक्त की हर मनोकामना को पूरी करते हैं। शिव जी के ये व्रत शुभदायी और फलदायी होते हैं।भगवन शिव को सावन मास अधिक प्रिय है।श्रावण मास में सोमवार व्रत अधिक प्रचलित है।लागे सालेह सामेवार व्रत करते हैं।अतः सोमवार का व्रत करने से समस्त शारीरिक, मानसिक और आर्थिक कष्ट दूर होते हैं और जीवन सुखमय हो जाता है। इस मास के सोमवार व्रतों का पालन करने से बारह महीनों के सभी सोमवार व्रतों का फल मिल जाता है।आइये जानते है सावन के सोमवार व्रत के आश्चर्यजनक फायदे।

सावन माह में सोमवार के व्रत रखने के फायदे :

1 .श्रावण मास में सोमवार व्रत रखने से इच्छित वर की प्राप्ति होती है ।
2 .यह व्रत प्रेम, आपसी भाई-चारे विश्वास और मेलजोल के साथ जीवन जीने का सबसे बड़ा संदेश देता है।

3 .सोमवार का व्रत करने से हर व्रती को दु:ख, कष्ट और परेशानियों से छुटकारा मिलता है और वह सुखी, निरोगी और समृद्ध जीवन का आनन्द पाता है।
4 .यदि कोई काम रुका हुआ हो उसे सफल करने में मदद मिलती है।
5 .सावन का व्रत रखने से आपको शत्रु से बचाव करने में मदद मिलती है।
6 .विवाहित महिलाओं द्वारा इस व्रत को करने से घर में सुख शांति आती है।
7 .इस व्रत से इंसान को न सिर्फ निरोगी काया मिलती है बल्कि वह सौंदर्य और तेज से भी पूर्ण हो जाता है ।
8 .इस व्रत से इंसान का दामपत्य जीवन सुखी रहता है ।
9 .इस व्रत को करने से गृह दोष से शांति मिलती है।
10 .व्यक्ति को धर्म, अर्थ, काम, और मोक्ष की सिद्धि मिलती है।
11 .भगवान शिव का व्रत करन से शनि के प्रकोप से मुक्ति मिलती है। भगवान शिव इंसान को शनि के दुष्प्रभाव से बचाते हैं।
12 .इससे आपकी सारी मनोकामना भी पूरी होती है।
13 .कुँवारी लड़की को मनचाहा वर मिलता है।
14 .इस व्रत को करने से इंसान को अकाल मृत्यु के भय से मुक्ति मिलती है।
15 .इस व्रत को करने से अच्छे काम की शुरुआत होती है और आपके काम में तरक्की मिलती है ।

Monday, July 16, 2018

मोनो डाइट क्‍या है, वेट लॉस और कब्‍ज में हो सकते हैं फायदेमंद / Mono Diets:Weight Loss

July 16, 2018 0

मोनो डाइट क्‍या है, वेट लॉस और कब्‍ज में हो सकते हैं फायदेमंद / Mono Diets:Weight Loss


जब आप एक ही आहार विशेष पर पूरी तरह आश्रित होते हैं उसे ही मोनो मील कहा जाता है।इस डाइट में आप किसी भी तरह के अन्य आहार को उसके साथ मिक्स नहीं करते।हर कोई तेजी से वजन घटना चाहता है इसके लिए लोग आज कल मोनो डाइट पर ज़ादा फोकस कर रहे है ।मोनो डाइट ऐसा डाइट प्लान है जिससे आप एक ही महीने में 4 -5 किलो वजन घटा सकते है । हम विभिन्न किस्म के आहार ऊर्जा, स्वस्थ जिंदगी और आकर्षक शरीर के लिए कहते है ।लकिन मोनो मील में आप एक की किसम के आहार से वजन घटा सकेंगे ।हम यहां मोनो मील्स के कुछ फायदे बताएँगे।

मोनो मील्स के फायदे:

1 .मोनो मील बोरिंग होते हुए भी हेल्दी है।
2 .यह मील आसानी से पचता है।
3 .ये कभी भी हमारे पाचन तंत्र पर अतिरिक्त भार नहीं डालते।

4 .कौन सा आहार आपको सूट कर रहा है, पता चल जाता है।
5 .किस आहार विशेष से आपको एलर्जी है और यह भी कि कौन सा आहार विशेष आपके स्वास्थ्य को सूट करता है। मोनो डाइट आपको बताती है ।
6 .इन्हें बनाने का झंझट कम होता है। यदि आप फलाहार पर निर्भर हैं तब तो किसी भी प्रकार की समस्या नहीं है ।
7 .दिन में आप उन तमाम तत्वों को ले लेते हैं जो स्वस्थ शरीर की जरूरत होती है।
8 .इसमें आप आसानी से जान जाते हैं कि किस आहार विशेष को कितने दिनों में बंद करना है।
9 मोनो डाइट से कभी भी कब्ज की समस्या भी नहीं होती।
10 .मोनो मील हमे ऊर्जा, स्वस्थ जिंदगी और आकर्षक शरीर बड़ी आसानी से दिला देता है ।


मोनो मील मसलन नाश्ते में आप सिर्फ खजूर खाते हैं और कुछ नहीं। इसी तरह लंच में आप सिर्फ सेब खाते हैं और कुछ नहीं। डिनर में भी आप आम के अलावा और कुछ खाना पसंद नहीं करते। जबकि पूरे दिन में आप सिर्फ और सिर्फ संतरे का जूस पीते हैं और सप्ताह में एक दिन केले का जूस। यही मोनो डाइट है ।

जोडों और घुटनों के दर्द का घरेलु उपचार / knee pain treatment in hindi

July 16, 2018 0

जोडों और घुटनों के दर्द का घरेलु उपचार / knee pain treatment in hindi


घुटनों में दर्द होना एक सामान्य समस्या है, जो सभी उम्र के लोगों को हो सकती है। उम्र बढ़ने के साथ अक्सर लोगो को घुटनों और जोड़ों का दर्द होने लगता है जो गठिया का लक्षण (Arthritis symptoms) भी हो सकता है। पुरुषों के मुकाबले महिलायों में घुटनों का दर्द होने की सम्भावना ज्यादा होती है।कुछ आसान घरेलू उपायों की मदद से घुटनों के दर्द की इस तकलीफ से छुटकारा पाया जा सकता है।इन उपायों के प्रयोग से आप गठिया जैसी बीमारी से भी छुटकारा पा सकते है।

घुटनो के दर्द का लक्षण -घुटनो में जकड़न होना, सूजन होना, छूने पर दर्द होना, दर्द वाली जगह लाल हो जाना, कमजोरी व अस्थिरता, घुटने को मोड़ने में दिक्क्त।


घुटनों के दर्द के उपाय :

1 .मरीज को 4 से 6 लीटर पानी हर रोज पीना चाहिये। इससे पेशाब अधिक आएगा और uric acid बाहर निकलेगा।
2 .रोजाना सूखा नारियल खाएं,नारियल का दूध पीयें,घुटनों पर दिन में दो बार नारियल के तेल की मालिश करें,इससे घुटनों के दर्द में अद्भुत लाभ होता है।
3 .एक महीने तक लगातार रात को 15 से 20 गिरी अखरोट की भिगो कर सुबह खाली पेट खाने से घुटनो के दर्द में आराम मिलता है।
4 .प्रतिदिन 4 से 5 लहसुन की कलियां पानी के साथ निगलने से घुटने का दर्द कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।
5 .रात को सोते समय 100 ग्राम खजूर को एक गिलास पानी में भिगोने के लिए रख दें। सुबह के समय जब उठे तो इसे चबाकर खा जाएं। प्रतिदिन कुछ दिनों तक ऐसा करने से घुटने का दर्द ठीक हो जाता है।
6 .जामुन के पेड़ की छाल को अच्छे से तेज उबाल ले और फिर इसे घुटनो पर लगाए।

7 .एक चम्मच सेब का सिरका और जैतून के तेल को मिलाकर घुटनों की मालिश करें।दर्द में बहुत आराम मिलेगा ।
8 .4-5 बादाम,5-6 साबुत काली मिर्च,10 मुनक्का,6-7 अखरोट, इन सभी चीज़ों को एक साथ मिलाकर खाएं और साथ में गर्म दूध पीयें।बहुत लाभ मिलेगा ।
9 .घुटने के दर्द को ठीक करने के लिए मेथीदाना को बारीक पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को सुबह ताजे पानी के साथ एक चम्मच लेने से बहुत अधिक लाभ मिलता है।
10 .घुटने के दर्द से पीड़ित व्यक्ति को सूरज की किरणों में बैठकर घुटने की मालिश करनी चाहिए जिसके फलस्वरूप घुटने का दर्द ठीक हो जाता है।
11 .नीबू काटकर उसे दर्द वाली जगह पर रोजाना मले, ऐसा करे से सूजन और दर्द खत्म होती है।
12 .पालक में ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो आपको ओस्टियोआर्थराइटिस और घुटनों के दर्द से दूर रखता है।इसलिए पालक का सेवन अपने भोजन में अवश्य करे ।
13 .कच्चे करेले का रस और महुए की छाल को पीसकर एवं हल्का गर्म कर के मालिश करने से लाभ होता है।
14 .थोड़े से अरण्डी के पत्तों को पीस लें उसमे कपूर और थोड़े से सरसों के तेल को इसके साथ मिलाकर कर घुटने के ऊपर लेप करें और कपड़े की पट्टी बांध लें और इसके ऊपर से गर्म सिंकाई करें जिसके फलस्वरूप घुटने का दर्द ठीक हो जाता है।
15 .ज्यादा लम्बे समय तक खड़े ना रहें। यदि खड़े होना ही हो तो मुलायम, गद्देदार जगह पर रहें। दोनों पैरों पर समान भार देकर खड़े रहें।
16 .बर्फ और गर्म पैड्स लगाएँ जो दर्द और सूजन कम करने में सहायक होते हैं।
17 .घुटने का दर्द ठीक करने के लिए सीधे कमर के बाल लेटें, अक्सर घुटनों को मोडते हुए साइकल की तरह चलाएँ।
18 .सुबह-सुबह की धुप में बैठे और विटामिन C और D से भरपूर आहार लें।
19 .मेथी का ज्यादा सेवन करे।
20 .यदि आपका वजन अधिक है तो उसे कम करें।
21 .जब आप सोएँ तो करवट के समय घुटनों के बीच तकिया रख लें ताकि दर्द कम हो सके।
22 .व्यायाम आपके जोड़ों को जकड़न से दूर करता है और गति को आसान करके और दर्द को कम करके आवश्यक सहयोग प्रदान करता है।
23 .हर एक घंटे मे 1-2 गिलास पानी पिए\
24 .रोगी को मैदे व बेसन से बनी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।
25 .रोगी को ठंडे पदार्थों जैसे- कोल्डड्रिंक, आइसक्रीम, बर्फ का पानी आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।

Saturday, July 14, 2018

तकिए के पास मोबाइल फोन रखकर सोने के नुकसान/ Side effects of keeping mobile phones under pillow

July 14, 2018 0

रात को तकिए के पास मोबाइल फोन रखकर सोने से आपकी सेहत को है बड़ा खतरा/ Side effects of using / keeping mobile phones under your pillow


जैसे मोबाइल फोन में फिचर्स बढ़ रहे है, मोबाइल को रात में सोते समय तकिए के पास रखने वालों की भी तादाद बढ़ रही है। लेकिन क्या आपने यह सोचा है कि आपकी यह आदत आपको कितना नुकसान पहुँचा रहा है।रात में बार-बार उठकर फोन चेक करने या सोने से पहले देर तक फोन पर लगे रहने की आदत आपकी नींद बर्बाद कर रही है। मोबाइल व टेबलैट से निकलने वाली नीली रोशनी यूजर्स को बहुत ही नुकसान पहुंचाती हैं।अगर सोने से पहले मोबाइल फोन अथवा टैबलेट का इस्तेमाल न किया जाए तो लगभग एक घंटे की नींद और ली जा सकती है। नींद पूरी न होने से सेहत को काफी नुकसान पहुंचता है।

मोबाइल फोन तकिए के पास रखकर सोने से नुकसान :

1 .ऐसा करना आपके गहरे नींद को बूरी तरह प्रभावित करता है।

2 .ऐसा करने से सीधा प्रभाव आपके संवेदनशील रेटिना पर पड़ता है, जिससे मस्तिष्क सतेज हो जाती है।
3 .आपका शरीर रात को आराम नहीं कर पाता है हर वक्त सचेत रहता है।
4 .इस प्रक्रिया में नींद के दौरान जो मेलाटोनीन हॉर्मोन निकलता है उसमें बाधा उत्पन्न होता है।
5 .अनिद्रा का भी शिकार भी इसका कारण बन जाता है ।
6 .इससे दिमाग की प्राकतिक तरंगों की आवाजाही में बाधा आती है ।

इसलिए सोते समय मोबाइल को सिर से दूर रखना चाहिए। अगर बहुत जरूरी न हो तो मोबाइल को रात में ऑफ कर दें और चैन की नींद लें। आखिर जान है तो जहान है।